Doji Candlestick Pattern In Hindi | Doji Candle Definition In Hindi

|| Dozi Candlestick Pattern in Hindi | Dozi Candlestick Pattern Meaning | What is Dozi candle & How its Work | Dozi Candle  bullish or bearish | Dozi Candle : अर्थ और परिभाषा | Dozi Candle In Hindi - Definition Full Knowledge In Hindi | Technical Analysis  Dozi | Dozi candle images | Is Dozi Candle a reversal Sign? ||


स्टॉक मार्किट में नये हैं तो जाने कैसे करें निवेश और कैसे कमायें मुनाफा हम आपको अपनी इस पोस्ट में  कैंडल स्टिक के बारे में सब कुछ बताएँगे भी और सिखाएंगे भी बने रहें हमारी इस पोस्ट के साथ


अगर आप दोज़ी कैंडल के बारे में जानने के लिए बेताब हैं और इंटरनेट पर इसे सर्च करते - करते थक गए हैं तो रुकिए यहां आपको Doji Candle In Hindi की पूरी जानकारी मिलेगी अगर आप जानना चाहते हैं कि दोज़ी कैंडल क्या है ( What Is Dozi Candle ) और ये कैसे काम करती है ( How Its Work ) तो मेरी ये पोस्ट आपके बहुत काम आने वाली है।


बाकी मैंने अपनी इसी वेबसाइट पर आपको अन्य कैंडलस्टिक के बारे में भी बताया हुआ है अगर आप उनके बारे में भी जानना चाहते हैं तो दिये गये लिंक पर CLICK करके ले सकते हैं। 


Dozi candle images:-


Dozi क्यों बनती है और इससे ट्रेड का कैसे अनुमान लगाया जाता है  हम ये सब जानेंगे इस एक ही पोस्ट में। 

What Is Doji Candlestick Pattern | Dozi Candle In Hindi - Definition Full Knowledge In Hindi

Dozi Candlestick Pattern in Hindi को अगर परिभाषित किया जाये तो इसकी Open Price और Close Price लगभग बराबर होती है और इसका अपर शैडो और लोअर शैडो कितना भी बड़ा हो सकता है कई बार बीच की हल्की बॉडी को भी हम दोज़ी मान सकते हैं या बीच की बॉडी ना हो तो भी हम उसे दोज़ी मान सकते हैं।

Importance Of Doji Candle In Stock Market

Dozi Candlestick Pattern in Hindi को मै काफी पसंद भी करती हूँ और ये कैंडल स्टॉक मार्किट में सबसे अधिक महत्वपूर्ण है और उसके पीछे के कुछ कारण हैं क्योंकी अगर कुछ और पैरामीटर का इस कैंडल के साथ इस्तेमाल किया जाये तो ये कम ही फ़ेल होता है।

(याद रहे स्टॉक मार्किट में कुछ भी 100% नहीं होता है और कोई भी व्यक्ति 100% सही नहीं हो सकता)

बाकी हमने इन पैरामीटर के बारे में अपने इसी ब्लॉग में बताया हुआ है आप इन लिंक्स के माध्यम से जाके उसको समझ सकते हैं। ये हैं Volume, RSI Indicators, मूविंग एवरेज, EMA Indicators  हम आगे विस्तार से चर्चा करेंगे पहले हम अपने मूल उद्देश्य कैंडल स्टिक की जानकारी पर ही रहते है इस कैंडल स्टिक का नाम है दोज़ी - Dozi । 

Read This : How To Select A Stock to Invest In Share Market For Consistent Return


जैसा की आप चित्र में देख सकते हैं इसकी Open Price और Close Price लगभग बराबर है और इसका अपर शैडो और लोअर शैडो काफी बड़ा भी है इसे देखकर आपको क्या लगता है क्या हुआ होगा उस दिन मार्किट में जो ये कैंडल बनी मै आपको विस्तार से समझाती हूँ। 

इस कैंडल का सबसे अधिक महत्व मार्किट के बूल समय पर या मार्किट के बेयरिश के समय पर ही होता है मतलब या तो मार्किट गिर रहा हो या फिर मार्किट बहुत तेज़ बढ़ रहा हो। 

Doji Candle बनने के पीछे की सोंच

इस कैंडल के पीछे की सोच ये है की जब मार्किट बुल होता है और उसी समय खरीदार और बिकवाल दोनों बराबर पर हावी हो जाते हैं तो तेज़ी करने वाले जो बहुत समय से शेयर को खरीद कर रखे हुए थे या खरीद कर चल रहे थे।

उनके अंदर एक घबराहट आ जाती है की जो मार्किट लगातार कई दिन से ऊपर जा रहा था और कैंडल भी बुल की बन रही थी उसने अचानक से दोज़ी - Dozi बना दिया यानि की मार्किट में बिकवाल भी अब Active हो चुके हैं। 


Doji Candle के रंग का महत्व

बता दें की Doji Candle में कलर ( रंग ) का कोई महत्व नहीं होता मतलब अगर मार्किट कई दिन से बुलिश है और दोज़ी कैंडल बनता है तो वो लाल रंग का बने या हरे रंग का इसका कोई महत्व नहीं होता इसका अर्थ ये लगाया जाता है कि मार्किट जो लगातार कई दिन से ऊपर जा रहा था अब दोज़ी ( Dozi Candle ) बन गया यानि की अब मार्किट की बढ़त थम गयी है और अब लोग प्रॉफिट बुकिंग करने के मुंड में आ चुके है इसको अगर संक्षेप में समझाया जाये तो दोज़ी ( Dozi Candle ) एक रिवर्सल का साइन है ( Dozi Candle a reversal Sign )

Doji Candle बनने पर क्या करना चाहिए

अब अगर तेज़ी के समय दोज़ी ( Dozi Candle ) बनता है तो ऐसे में बिकवाली करनी चाहिए और अगर मंदी के समय बने तो तेज़ी यानि खरीदारी करनी चाहिए आपको ध्यान रखना है कि मार्किट उस समय नार्मल हो और कोई भी निगेटिव या पॉजिटिव खबर न हो अगर हो भी तो अगर ऊपर की तरफ दोज़ी ( Dozi Candle ) बनता है तो नेगेटिव न्यूज़ आपके लिए बढ़िया है और अगर नीचे बनती है तो पॉजिटिव न्यूज़ आपके लिए बढ़िया हो सकती है। 
 
हालांकि हमें अपने नियम को हमेशा याद रखना है कि हमें अपने विचार में कुछ लचीलापन रखना चाहिए ताकि अगर आपका सौदा उल्टा पड़ जाये तो आपको कम से कम नुक्सान होगा वैसे ये काफी हद तक स्पिनिंग टॉप की तरह ही होता है और इसका काम भी वैसा ही होता है लेकिन ये उससे कहीं अधिक कारगर साबित होता है जहाँ एक और स्पिनिंग टॉप में अनिश्चितता होती है वहीँ इसे रेवेर्सल का सिग्नल माना जाता है इसीलिए ये कैंडल मेरी पसंदीदा भी है। 

यहां मै आपको एक चित्र के दिखाती हूँ की ये कैसे और कब बनता है :-



यहां आप देख सकते हैं की मार्किट ऊपर जा रहा था और एकाएक दोज़ी ( Dozi Candle ) बन गया और मार्किट में बिकवाली शुरू हो गयी। 

अब मै आपको दूसरा चित्र भी दिखाती हूँ जिसमे दोज़ी ( Dozi Candle ) बनने के बाद भी खरीदार ही हावी रहे हैं :- 


इस चित्र में आप देखेंगे की स्पिनिंग टॉप के साथ दोज़ी ( Dozi Candle ) भी बनती गयी है कई बार मगर फिर भी कीमत नीचे नहीं आ रही हैं इसके कुछ प्रमुख कारण भी हो सकते हैं जैसे की मैंने पहले भी बताया था की मार्किट अपने अंदर सब कुछ मतलब जो भी इस संसार में हो रहा होता है वो शेयर की वैल्यू में मतलब अपने अंदर समाहित कर लेता है। (मतलब कुछ अच्छी News) 

Read This : How To Become A Successful Traders In Share Market

उदाहरण के लिए अगर भारत - चीन या फिर पाकिस्तान के बिच तनाव बढ़े या बजट आने वाला हो या फिर US प्रेजिडेंट कुछ ख़राब ट्वीट कर दें तो भी शेयर में हल्का फुल्का करेक्शन एक दो दिन का हो जाता है।

इसीलिए जो स्टॉक लगातार बढ़ता ही जा रहा था और वो ग्लोबल मार्किट, कोई उस शेयर के लिए बढ़िया न्यूज़, सरकार का आने वाले दिनों में उस शेयर के सेक्टर के लिए फोकस करना, शेयर का आने वाले दिनों में बॉय बैक या डिविडेंड का ऐलान होने की संभावना आदि हो सकते हैं।

इसलिए ये ध्यान रखें की कोई भी पोजीशन बनाने से पहले चाहे वो तेज़ी की हो या मंदि की उसके बारे में न्यूज़ भी देखना बेहद जरूरी होती है। 

Doji Candle में स्टॉपलॉस

Dozi Candle In Hindi - Definition Full Knowledge In Hindi Dozi Candle में स्टॉप लॉस उसके एक दिन पहले का Low या High होना चाहिए उदाहरण के लिए अगर आपने स्टॉक के समय दोज़ी बनने पर स्टॉक लिया था तो एक दिन पहले का High आपका  Stoploss  होगा और अगर Bearish में दोज़ी बनने पर लिया था तो एक दिन पहले का Low आपका  Stoploss  होना चाहिए।


तो दोस्तों मुझे पूरी उम्मीद है की आपने पूरी तरह Dozi Candle In Hindi - Definition Full Knowledge In Hindi समझ लिया होगा और ये भी समझ गये होंगे की ये कब और किन परिस्थितियों में ये बनता है अगर आपका कोई सवाल हो तो आप कमेंट करके पूछ सकते हैं। और अगर ये पसंद आये तो सोशल मीडिया पर भी शेयर करें ताकि जानकारी और लोगों तक भी पहुँच सके। 
 
---- धन्यवाद् 


FAQ



Qs. दोज़ी कैंडल क्या होती है? What Is Dozi Candle?
Ans. Dozi Candlestick Pattern in Hindi को अगर परिभाषित किया जाये तो इसकी Open Price और Close Price लगभग बराबर होती है और इसका अपर शैडो और लोअर शैडो कितना भी बड़ा हो सकता है कई बार बीच की हल्की बॉडी को भी हम दोज़ी मान सकते हैं या बीच की बॉडी ना हो तो भी हम उसे दोज़ी मान सकते हैं। दोज़ी कैंडल का स्टॉक मार्किट में अत्यधिक महत्व है और Dozi Candle काफी विश्वसनीय कैंडल मानी जाती है

Qs. दोज़ी कैंडल बनने पर हमें क्या करना चाहिए?
Ans. अगर तेज़ी के समय दोज़ी ( Dozi Candle ) बनता है तो ऐसे में हमें बिकवाली करनी चाहिए और अगर मंदी के समय दोज़ी बने तो तेज़ी यानि खरीदारी करनी चाहिए आपको ध्यान रखना है कि मार्किट उस समय नार्मल हो और कोई भी निगेटिव या पॉजिटिव खबर न हो अगर हो भी तो अगर ऊपर की तरफ दोज़ी ( Dozi Candle ) बनता है तो नेगेटिव न्यूज़ आपके लिए बढ़िया है और अगर नीचे बनती है तो पॉजिटिव न्यूज़ आपके लिए बढ़िया हो सकती है। 

Qs. क्या दोज़ी कैंडल रिवर्सल की पहचान होती है?
Ans. जी हाँ दोज़ी कैंडल को रिवर्सल का सिग्नल मन जाता है कि अब मार्किट में खरीदार और बिकवाल दोनों आ गये हैं और अब स्टॉक की चाल बदलने वाली है। 

Qs. दोज़ी कैंडल अन्य कैंडल की अपेक्षा क्यों अधिक विश्वसनीय मानी जाती है?
Ans. दोज़ी कैंडल का स्टॉक मार्किट में अत्यधिक विश्वसनीय मानी जाती है उसका कारण ये है की जब लगातार गिरावट हो रही होती है और दोज़ी कैंडल बन जाती है तो बिकवाल के अंदर घबराहट आ जाती है क्योंकि उन्हें पता चल जाता है कि मार्किट में अब खरीदार भी आ गए हैं और वो ये देखकर अपनी मंदी की पोजीशन काटने लग जाते हैं तो मार्किट में और खरीदारी शुरू हो जाती है जिससे मार्किट रिवर्स हो जाता है।

Qs. दोज़ी कैंडल का स्टॉपलॉस क्या होना चाहिए?
Ans. Dozi Candle में स्टॉप लॉस उसके एक दिन पहले का Low या High होना चाहिए उदाहरण के लिए अगर आपने स्टॉक के समय दोज़ी बनने पर स्टॉक लिया था तो एक दिन पहले का High आपका  Stoploss  होगा और अगर Bearish में दोज़ी बनने पर लिया था तो एक दिन पहले का  Low आपका  Stoploss  होना चाहिए।

Qs. दोज़ी कैंडल का स्टॉक मार्किट में क्या महत्व है?
Ans. दोज़ी कैंडल का स्टॉक मार्किट में अत्यधिक महत्व है और Dozi Candle काफी विश्वसनीय कैंडल मानी जाती है उसका कारण है की गिरावट में या बढ़त में जब दोज़ी बनती है तो इसका मतलब की मार्किट में खरीदार और बिकवाल दोनों आ गये हैं और अब इसकी गिरावट / बढ़त थम सकती है जिसकी वजह से इसकी चाल बदल सकती है। 




Must Read :-

5. Technical Analysis In Hindi Part -2 / टैक्निकल एनालिसिस भाग- २

|| Dozi Candlestick Pattern in Hindi | Dozi Candlestick Pattern Meaning | What is Dozi candle & How its Work | Dozi Candle  bullish or bearish | Dozi Candle : अर्थ और परिभाषा | Dozi Candle In Hindi - Definition Full Knowledge In Hindi | Technical Analysis  Dozi | Dozi candle images | Is Dozi Candle a reversal Sign? ||

Nutan Srivastava

Stock Market, Intraday, Fundamental, Candle Stick, Support-Resistance, IPO, Chart, Earn Money online, LIC IPO, Health & Life Insurance,World Market,

If you have any doubt pls. let me know or leave a comment ... इस ब्लॉग की सभी जानकारी Education purpose के लिए है, किसी निवेश से पहले अपने फाइनेंसियल सलाहकार से जरुर सलाह ले

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने