Piercing Candle Stick Pattern - Definition in Hindi








                Piercing Candle Stick Pattern

                        Definition in Hindi


तो दोस्तों आज हम जानेंगे कि पियर्सिंग पैटर्न क्या होता है - what is piercing pattern आपसे निवेदन है कि मेरी सारी पुरानी  पोस्ट को आप सीरियल से और पूरा पढ़ें और एक नहीं कम से कम दो से तीन बार पढ़ें तब आगे बढ़ें । आप मुझे फॉलो कर लें ताकि मेरी आने वाली साड़ी पोस्ट की  आपको अपडेट सबसे पहले मिलती रहे  

तो दोस्तों अब हम जो आपको कैंडल के बारे में बताने जा रहे हैं वो है 
" पियर्सिंग पैटर्न "


How To Trade On Boolish & Bearish Piercing Pattern


Read This : How to make money from share market - शेयर मार्किट से पैसा कैसे कमायें



पियर्सिंग पैटर्न भी लगभग एंगलफिंग की ही तरह होता है बस केवल एक अंतर होता है और वो ये है की जहां एक ओर एंगलफिंग पैटर्न एक दिन पहले की कैंडल को पूरी तरह से ढक लेती है वहीँ पियर्सिंग पैटर्न आंशिक रूप से ढकती है और जो ध्यान रखने वाली बात है वो ये कि यह एक रेवेर्सल का सिग्नल होता है मतलब जब तेज़ी के समय विपरीत कैंडल पियर्सिंग बने तभी ये मान्य होती है


उदाहरण के लिए मार्किट गिर रहा है और जिसकी कैंडल का रंग आपने लाल दिया है और तब " पियर्सिंग " बने जिसका रंग आपने हरा दिया हुआ है तो ये एक रिवर्सल का सिग्नल होता है इसका मतलब अब मार्किट का मुंड बदलने वाला है और खरीदार अब बिकवाल पर हावी हो रहे हैं यहां एक गौर करने वाली बात ये होती है की कभी - कभी सभी कैंडल स्टिक सही काम नहीं कर पाती है जिसके लिए लोग अक्सर कैंडल स्टिक पैटर्न को दोष देते है


जबकि ऐसा नहीं है हमेशा से यही कहा जाता है की कैंडल की जानकारी तो सबको हो जाती है लेकिन उसको सही से समझने की कला सबको जल्दी नहीं हो पाती है क्योंकि कैंडल के साथ - साथ बहुत सी चीजों का महत्व होता है जैसे की वॉल्यूम , प्राइस एक्शन , ग्लोबल मार्किट , मार्किट की चाल ( बुलिश / बेयरिश ) आदि


Read This : What is the Dividend - Definition of the Dividend



जिस दिन मै ये ब्लॉग लिख रही हूँ यानि की आज २६ फरवरी २०२१ को मार्किट एकदम से अचानक १.५ % निचे खुला और यही नहीं वो बंद जाकर ३.७६ % की गिरावट के साथ हुआ तो ऐसे में न कैंडल स्टिक काम करती है और ना ही कंपनी का फंडामेंटल आप चित्र में देख सकते हैं




जिसके बारे में हम आगे विस्तार से जानेगे विश्वास करिये ये सब जानकार आप एक सफल ट्रेडर्स और इन्वेस्टर बन सकते हैं और सफल का मतलब आप अपने ट्रेड में ७० - ८०% तक एकुरेसी ला सकते हैं और ये एक बढ़िया परसेंटेज होता है एक ट्रेडर्स और इन्वेस्टर्स दोनों के लिए सबसे पहले मै आपको एक चित्र दिखाती हूँ जिससे आपको समझने में आसानी हो 



अब आपको इसमें ट्रेड कैसे बनाना है ये बताती हूँ :-


रिस्क लेने वाला ट्रेडर 

रिस्क लेने वाला ट्रेडर्स जिस दिन उसको ये कैंडल बनती हुई दिख रही होगी यानि की अगर आज २६ फरवरी २०२१ है तो वो उसी दिन ३.२० पर देखेगा की एक दिन की कैंडल में पियर्सिंग पैटर्न बन रहा है तो वो उसी दिन सौदा ले लेगा इस उम्मीद के साथ की अब मार्किट का मुंड बदलने वाला है लेकिन इसमें रिस्क ये है की अगर उसका सौदा गलत पड गया तो उसका नुक्सान हो सकता है क्यों की कल क्या होगा ये किसी को नहीं पता


Read This : How To Become A Successful Traders In Share Market


जैसा मैंने पहले भी बताया था की जब मार्किट एक और भाग रहा होता है तो प्रॉफिट बुकिंग भी लाज़मी है और ये सिर्फ एक प्रॉफिट बुकिंग भी हो सकती है लेकिन सोचिये की अगर रिस्क लेने वाला सही साबित होता है और उसकी सोच सही थी तो उसको सौदा बहुत ज्यादा सस्ते भाव में मिल चुका होता है और अगर उसका रिस्क ज्यादा था तो प्रॉफिट भी बहुत ज्यादा होगा बस उसको ये सुनिश्चित करना होता है कि वास्तव में पियर्सिंग पैटर्न बन रहा है कि नहीं 


उदाहरण के लिए मान लीजिये विप्रो का शेयर लगातार १० दिन से निचे जा रहा था और आज पैटर्न बनने के समय उसका भाव ४१० है तो वो उसे उसी दिन ४१० में ले लेगा इस उम्मीद से की गिरावट में ये पैटर्न बना है अब मार्किट का मुंड बदलेगा और कल से इसकी चाल बदल जाएगी और ऐसा हो भी जाता है और शेयर अगले तीन चार दिन अच्छी दौड़ भी लगता है और ये ४६० तक जाता है


ऐसे में रिस्क लेने वाले को ५० रूपए एक शेयर पर मिलते है जबकि रिस्क से बचने वाला शेयर को अगले दिन जब वो देखता है की शेयर भाग रहा है तब लेगा तब तक इसका भाव ४२५ हो चूका होता है तो उसे मात्र ३५ रूपए ही मिलते हैं किन्तु अगर रिस्क लेने वाले का सौदा गलत हो जाता है तो उसे उतने ही रूपए का ज्यादा नुक्सान भी उठाना पड सकता है


Read This : MOVING AVERAGE DEFINITION & CALCULATION


मै इसे एक चित्र के माध्यम से दिखाती हूँ जहां पियर्सिंग पैटर्न बनने के बाद भी स्टॉक की चाल में कोई बदलाव नहीं आया ऐसे में पियर्सिंग पैटर्न के अगले दिन तो सही कैंडल बनी पैटर्न के मुताबिक किन्तु अगले ही दिन मार्किट वापिस ऊपर जाने को तैयार हो गया ऐसे में रिस्क लेने वाले को हल्का - फुल्का मुनाफा हो सकता है किन्तु रिस्क से बचने वाले को भरी नुक्सान उठाना पड़ सकता है 




रिस्क से बचने वाला ट्रेडर्स

रिस्क से बचने वाला ट्रेडर्स हमेशा पैटर्न बनने के बाद अगले दिन मार्किट का माहौल देखता है की कही ये पैटर्न जो एक दिन पहले बना है ये प्रोफिट बुकिंग मात्र तो नहीं था या ग्लोबल मार्किट डाउन होने की वजह से तो नहीं था और जब वो देखता है की नहीं वास्तव में ये पैटर्न सही था तो वो सौदा डाल देता है


Read This : Best Share Market Books In India


जिससे रिस्क लेने वाले की अपेक्षा उसका नुक्सान होने की उम्मीद कम होती है क्योंकि मार्किट के बारे में कहा जाता है की प्रॉफिट भले ही कम हो या न हो लेकिन अपना नुक्सान न होने दें क्योंकि नुक्सान से आपका पैसा गायब हो जायेगा और आप मार्किट से, और मार्किट में बने रहना सबसे अच्छा होता है क्योंकि जैसे - जैसे आप पुराने होंगे आप और अच्छे ट्रेडर होते जायेंगे वैसे नफा और नुक्सान ये मार्किट के दो पहलू होते हैं तो दोनों का लुत्फ़ उठायें कभी आप अगर 10000 कमाते हैं तो किसी दिन 5000 का नुक्सान उठाने के लिए भी तैयार रहें 


तो दोस्तों मैंने इसमें अपना पिछले कई सालों का अनुभव डाल दिया है इस उम्मीद से की आप लोग इसको अच्छे से समझ सकें और अपने नुक्सान को रोक सकें अगर आपका कोई सवाल हो तो आप कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं मुझसे मै आपके हर सवाल का जवाब अवश्य दूंगी अब हम अपने अगले अध्याय में अगली कैंडल स्टिक के बारे में जानेंगे -- धन्यवाद् 


Must Read : - 

1. Paper umbrella Candle Stick pattern - पेपर अम्ब्रेला पैटर्न2. Candle Stick Pattern In Hindi3. Morning star / Evening star ( Candle Stick Pattern )4. Harami Candle Stick Pattern - Bullish & Bearish Harami Pattern5. Dark Cloud Cover Definition and Example6. Piercing Candle Stick Pattern - Definition in Hindi7. Doji Candlestick Pattern In Hindi - Definition8. Spinning Top Candlestick - Definition9. Marubuzu Candle Stick Pattern In Hindi10. How To Make A Profit In The Stock Market - शेयर मार्केट में लाभ कमाने का तरीका

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ