Harami Candle Stick Pattern - Bullish & Bearish Harami Pattern



    
         Harami Candle Stick Pattern

         Bullish & Bearish Harami Pattern


तो दोस्तों आज हम जानेंगे कि हरामी पैटर्न क्या होता है - what is Harami pattern आपसे निवेदन है कि मेरी सारी पुरानी  पोस्ट को आप सीरियल से और पूरा पढ़ें और एक नहीं कम से कम दो बार पढ़ें तब आगे बढ़ें । आप मुझे फॉलो कर लें ताकि आपको मेरी आने वाली मेरी नयी पोस्ट की अपडेट मिलती रहे   


तो अब हम आगे की कैंडल के बारे में जानेंगे


तो दोस्तों पिछले अध्याय में हमने " डार्क क्लाउड कवर " के बारे मे जाना और उम्मीद करती हूँ कि इसे आप अच्छे से समझ भी गए होंगे अब हम जो आपको कैंडल के बारे में बताने जा रहे हैं वो है  " हरामी पैटर्न "


हरामी पैटर्न

कृपया आप इसके नाम पर न जाएँ ये नाम हिंदी का नहीं बल्कि जापानी भाषा का होता है जैसा की हमने आपको बताया था की कैंडल की उत्पत्ति जापान में हुई थी अतः इसका मतलब हिंदी में गर्भवती है जी हाँ जैसे गर्भवती औरत और इसका नाम ऐसा क्यों रखा गया है जब आप कैंडल को देखेंगे तो समझ जायेंगे


निचे मै आपको इसका चित्र दिखाती हूँ संयोग से मुझे एक ही चार्ट में दो बार ये पैटर्न दिख गया और आप देखिये की क्या हुआ उसके बाद

     
यहां आपको दो जगह ये कैंडल दिखेंगी जिसको मैंने गोले में दिखाया है दोनों लाल कैंडल जब मार्किट गिर रहा था तब ये हरा कैंडल बना और मार्किट ने अपनी चाल बदल दी वैसे एक बात और है जो आपको बताने से रह गयी थी की कैंडल स्टिक पैटर्न शार्ट टर्म के लिए होता है मतलब की ये एक दिन से लेकर एक हफ्ते या एक महीने तक के लिए होता है या जब तक शेयर दौड़ लगा कर थक न जाये तब तक भी आप इसको लेकर रख सकते हो और करेक्शन पर बेच करके ट्रेडिंग के नए मौके तलाश सकते हो


आप देखोगे कि ( चित्र में ) पहले ये चाल ९ दिन तक रही और दूसरी बार सिर्फ ४ दिन तक और आपको इसमें तब तक बने रहना है जब तक ये अपने एक दिन पहले के लो ( LOW ) को नहीं तोड़ता है इसका लो ही आपका स्टॉप लॉस होगा अब बात करतें हैं इसके नाम की तो एक विपरीत रंग की बड़ी कैंडल के बीच में जब इस तरह की ये कैंडल बनती है तो देखने में ऐसा ही लगता है इसी लिए वहाँ के लोगों ने इसका नाम हरामी यानि की गर्भवती रखा था 


ये भी दो प्रकार की होती है बुलिश और बेयरिश जब मार्किट में बड़ी गिरावट हो लाल कैंडल के साथ और हरा छोटा ऐसा ही कैंडल बने तो वो बुलिश कैंडल होता है और जब मार्किट बुलिश हो हरे कैंडल स्टिक के साथ और ऐसा ही लाल कैंडल बने तो उसे बेयरिश हरामी कैंडल कहते हैं अब जो हम आपको चार्ट दिखाएंगे वो बुलिश हरामी का चार्ट है बल्कि आपको उसमे बुलिश कैंडल दिखेगा 




इसमें आप देख सकते हैं की ये कैंडल बना और स्टॉक की चाल बदल गयी जैसा की मैंने पहले भी बताया था कि सिर्फ कैंडल देखकर ही ट्रेड नहीं बनाना चाहिए उसकी पुस्टि के लिए आपको कुछ और पैरामीटर की भी जरुरत होती है जो मै आगे आने वाले अध्याय में बताउंगी जितने ज्यादा पैरामीटर ट्रेड के साथ मेल  खाते हैं कैंडल उतनी ज्यादा कारगर होती है मै यहां आपको बुलिश हरामी के बारे में बताउंगी क्योंकि बेयरिश हरामी बस इसकी एकदम उलटी होती है बुलिश कैंडल गिरावट के समय बनती है तो बेयर तब बनती है जब मार्किट बुलिश होता है 




बुलिश हरामी कैंडल बनने के पीछे की सोच क्या होती है अब हम ये जानते हैं

१. बाज़ार में मंदी है और कीमतें भी लगातार नीचे की ओर जा रही हैं मतलब बाज़ार में बेयर का कब्ज़ा है. 

२. एक दिन पहले तक जब बाजार में बिकवाली हो रही थी तो उसने लाल कैंडल मतलब बेयर कैंडल बनाई जिससे एक नया लो ( Low ) बनता है जो की बाजार में  मंदी को और मजबूती प्रदान करता है 

३. किन्तु अगले दिन बाजार पिछले दिन के लो से ऊपर खुलता है तो जो लोग मंदी किये हुए थे उनके अंदर घबराहट आ जाती है तो उनमे से कुछ छोटे  ट्रेडर्स प्रॉफिट बुकिंग करते हैं जिससे शेयर थोड़ा निचे आ जाता है लेकिन उसके बाद ये पुनः ऊपर जाकर बंद होने में कामयाब हो जाता है और हरा कैंडल बना देता है 

४. अगले दिन जब इसने बुलिश हरामी कैंडल बनाई तो जो अभी तक छोटे ट्रेडर्स घबरा रहे होते हैं तो अब बड़े ट्रेडर्स भी घबराने लगते हैं की अब बाजार का मूंड बदल रहा है और वे लोग खरीदारी शरू करदेते हैं 



यहां रिस्क लेने वाला वही समय जो मैंने पहले बताया था ३:२० पर देखेगा की क्या ये कैंडल बन रही है वो इसको दिन के चार्ट में देख सकता है ( मै जब ये सारे अध्याय ख़त्म हो जायेंगे तो चार्ट कैसे बनाना है ये भी बताउंगी  बिलकुल भी परेशां न हों मै यहां आपको सीखने ही तो आई हूँ


किन्तु रिस्क से बचने वाला अगले दिन जब  जाता है उसके अगले दिन जब वो आश्वस्त हो जाता है कि शेयर उसके हिसाब से भागने को तैयार है तब वो इसे लेता है जब सौदा हो जाता है तो ट्रेडर को या तो टारगेट के हिट होने का इंतज़ार करना होगा या स्टॉप लोस्स ट्रिगर होने का 


तो दोस्तों मैंने इसमें जो भी लिखा है वो मेरा कई सालों का अनुभव है और इस उम्मीद के साथ की आप लोग इसको अच्छे से समझ सकें और अपने नुक्सान को रोक सकें या फिर इस उम्मीद से की कुछ लोगों के पास कुछ पैसे तो हैं लेकिन रोजगार नहीं तो मेरे पोस्ट उन लोगों के भी बहुत काम आने वाले हैं


अगर आपका कोई सवाल हो तो आप कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं मुझसे मै आपके हर सवाल का जवाब अवश्य दूंगी अब हम अपने अगले अध्याय में अगली कैंडल स्टिक के बारे में जानेंगे तब तक आप मेरे लिखे सारे लेख का रिविजन कर लें मेरे लेख आपको क्वोरा पर भी मिलेंगे -- धन्यवाद्

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ