Best Indicator By Market Ki Pathshala

By: Nutan Srivastava            

Best Indicator By Market Ki Pathshala | Best Indicators for Stock Market | Which Indicators Are Best For Trading | Which Indicators Are Best For Intraday Trading | Best Indicator kaun se hain | Stock Market Ke Liye Best Indicator

अगर आप इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए बेस्ट इंडिकेटर (Best Indicators) को इंटरनेट पर सर्च कर रहे हैं तो आप बिलकुल सही जगह पर आये हैं यहां आपकी तलाश ख़त्म होती है और मै आज आपको कुछ ऐसे इंडिकेटर के बारे में बताउंगी जो इंट्राडे में बिलकुल सटीक काम करता है। 



किन्तु इससे पहले कि आप अतिउत्साहित हों मै आपको पुनः  याद दिला दूँ कि शेयर मार्किट में कोई भी व्यक्ति १००% सही नहीं हो सकता किन्तु हाँ आप बेस्ट इंडिकेटर के प्रयोग से अपनी एक्यूरेसी को जरूर बढ़ा सकते हैं बस आपको इन्हे सीखना और समझना आना चाहिए जो कि ज्यादा मुश्किल नहीं है आप मेरे साथ बने रहें मै आपको सरल भाषा में समझाने की कोशिश करुँगी।

वैसे तो मार्किट में सैकड़ों इंडीकेटर्स मौजूद हैं और जब कोई बिगिनर टेक्निकल एनालिसिस सीखने की शुरुआत करता है तो उसके सामने सबसे बड़ी समस्या और सवाल यही होता है कि इन इंडीकेटर्स में सबसे बढ़िया कौन सा है क्योंकि इन सारे इंडीकेटर्स को समझना और इन्हे चार्ट पर एक साथ लगाना सम्भव भी नहीं है। 

तो आज मै इनमे से सिर्फ ३ इंडिकेटर को लेकर आयी हूँ जिन्हे मै उदहारण के साथ बताउंगी कि ये क्यों औरों से बढ़िया हैं इन्हे आप चार्ट पर लगा कर अपने प्रॉफिट को बढ़ा सकते हैं लेकिन मै फिर भी आपको सलाह दूंगी कि अगर आपको इंडिकेटर और फंडामेंटल बढ़िया लगे तो स्टॉक को होल्ड करें और जब तक कोई बेचने का सिग्नल न मिले तब तक न बेचें

तो चलिए शुरू करते हैं।

Best Indicator By Market Ki Pathshala

1. रिलेटिव स्ट्रेंथ इंडेक्स (RSI)

2. मूविंग एवरेज कन्वर्जेन्स डाइवर्जेन्स (MACD)

3. बोलिंगर बैंड 

Read This  : How to make money from share market

1. रिलेटिव स्ट्रेंथ इंडेक्स (RSI)

CLICK HERE

FOR FULL DETAIL RSI का पूरा नाम Relative Strength Index है और इसकी पहचान टेक्निकल एनालिसिस में ट्रेड रिवेर्सल को पहचानने के लिए किया जाता है शेयर मार्किट में सबसे ज्यादा अगर किसी इंडिकेटर का उपयोग होता है शार्ट टर्म या इंट्राडे के लिए तो वो RSI Indicator ही है। 

RSI Indicator साइड वेज़ मार्किट में भी काफी सही संकेत देता है कि स्टॉक को कब लेना है या कब बेचना है RSI ० से १०० अंक के बिच घूमता रहता है इसको आप लोअर साइड २० और अप साइड ८० पर सेट कर सकते हैं और जब ये २० के स्तर के करीब हो या इससे नीचे ट्रेड करने लगे तो ये एक ओवर सोल्ड का संकेत होता है और ऐसे में आपको खरीदारी के मौके ढूंढने चाहिए। 

इसी प्रकार जब ये ८० या इससे ऊपर ट्रेड करने लगे तो ऐसे में आपको बिकवाली करनी चाहिए किन्तु ये ध्यान रखें कि आपको इंट्राडे में काम हमेशा स्टॉप लॉस के साथ करना है ताकि अगर आपका सौदा गलत पद जाये तो आपका नुक्सान सीमित रहे।

मै यहां इसका आपको एक चित्र दिखाती हूँ जिससे आप इसे अच्छे से समझ जाएँ चूँकि यहां मै आपको इंट्राडे के बारे में बता रही हूँ इसलिए मैंने ये चार्ट 15 मिनट का लिया है :-


आप इस चार्ट में ओवर बॉट और ओवर सोल्ड को अच्छे से समझ सकते हैं और अगर कहीं कोई दुविधा हो तो आप कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं। 

2. मूविंग एवरेज कन्वर्जेन्स डाइवर्जेन्स (MACD)

MACD Line टेक्निकल एनालिसिस में प्रयोग होने वाला बहुत महत्वपूर्ण Indicator है और इसका भी लगभग सभी ट्रेडर्स इस्तेमाल करते हैं ये ट्रेड के रुझान और अवधि के बारे में जानकारी देता है पहले आप चार्ट को देखें 



जैसा कि आप चार्ट में देख सकते हैं मैंने यहाँ नीले और लाल रंग की लाइन का उपयोग किया है और जैसे ही नीली लाइन लाल रंग की लाइन को काटती है वैसे ही शेयर की चाल में बदलाव आ जाता है और ये गैप जितना बड़ा होता है मोमेंटम उतना ही बड़ा होता है।

Read This Also : How to make chart for Stock market with indicators ( Investing.com )

चार्ट बनाने के लिए आप किसी भी साइट चाहे वो moneycontrol की हो या inveting.com की हो आपको ये सारी सुविधा मिल जाती है और आप इंडिकेटर अपने आप से लगा सकते हैं। 

Best Indicator For Intraday Trading

३. बोलिंगर बैंड (Bollinger Bands)

अगर आप ट्रेडिंग करते हो तो बोलिंगर बैंड (Bollinger Bands) का नाम आपने अवश्य सुना होगा बल्कि मै जिन - जिन इंडिकेटर के बारे में आपको बता रही हूँ उन सभी का नाम आपने सुना होगा अगर आपने इंटरनेट पर  Best Indicator For Intraday सर्च किया होगा तो वहाँ आपको लोग ८ से 10 इंडिकेटर के बारे में बताएँगे

किन्तु आप सिर्फ 4 से 5 Indicators का इस्तेमाल करके अच्छा पैसा बना सकते हैं बस आपको इसे अच्छे से समझना होगा और आप मेरे साथ बने रहें मै आपको यहां विस्तार से समझाउंगी



बोलिंगर बैंड एक अत्यधिक प्रचलित इंडिकेटर है जिसका ट्रेडर्स और इन्वेस्टर्स दोनों इस्तेमाल करते हैं इस इंडिकेटर में स्टॉक की प्राइस  इंडिकेटर की दोनों लाइन्स के बिच में रहती है इसमें ऊपर वाली लाइन को अपर बैंड और नीचे की लाइन को लोअर बैंड कहते हैं। 

Technical Analysis In Hindi Part -1 / टैक्निकल एनालिसिस भाग- १

Technical Analysis In Hindi Part -2 / टैक्निकल एनालिसिस भाग- २

Technical Analysis In Hindi Part -3 / टैक्निकल एनालिसिस भाग- ३

जब स्टॉक की कीमत अपर बैंड की तरफ जाती है या उसके करीब होती है तो वो ओवर बॉट और जब स्टॉक की कीमत लोअर बैंड की तरफ जाती है या उसके करीब होती है तो वो ओवर सोल्ड की पोजीशन होती है और ऐसे में खरीदारी के मौके को तलाशना होता है।

जैसा कि आप जानते ही हैं कि Bollinger Band को ट्रेडर्स और इन्वेस्टर दोनों पसंद करते हैं और वैसे मै सभी लोगों को हमेशा लम्बी अवधि के लिए ही इन्वेस्ट करने के लिए सलाह देती हूँ यह काफी लोकप्रिय रणनीति है किन्तु इस रणनीति को समझने के लिए आपको इसे अच्छे से समझना होगा 

बोलिंगर बैंड का उपयोग ओवर बॉट और ओवर सोल्ड देखने के लिए किया जाता है तो चलते हैं और पहले इसको अच्छे से समझते हैं 

यह तीन बैंड से मिलकर बनता है मिडिल बैंड एक सिंपल मूविंग एवरेज तथा अपर एवं लोअर बैंड मिडिल लाइन से २ डेविएशन की दूरी पर है इसका उपयोग इंट्राडे या स्विंग ट्रेडिंग में इस प्रकार करते हैं। 

१. अपर बैंड को छूने के लिए आपको कीमत का इंतज़ार करना पड़ेगा ताकि आप कन्फर्म हो सकें की स्टॉक की कीमत ओवरबॉट हो गयी हैं। 

२. जब बोलिंगर बैंड अपर बैंड को छूटा है तो आपको स्टॉक की कीमत को नीचे आने की प्रतीक्षा करनी है ताकि आप कन्फर्म हो सके कि ये सही काम कर रहा है। 

३. ट्रेड लेने से पहले सबसे महत्वपूर्ण होता है स्टॉक का चुनाव, कैंडल स्टिक, और चार्ट को अच्छे से समझना इससे आपको एंट्री और एग्जिट दोनों में डबल कन्फर्मेशन मिल जाएगी और आपके द्वारा लिए गये ट्रेड को और बल मिलेगा 

कैंडल स्टिक पैटर्न 

वॉल्यूम

मै यहां आपको इसको प्लाट करने का तरीका बताती हूँ :-



स्रोत : investing.com 

जैसा ऊपर के चित्र में दिखाया गया है आपको वैसे ही सेट करना है नीले गोले में जाके आप अपने हिसाब से रंग का चुनाव भी कर सकते हैं 

इसी प्रकार एक और बंद आपको प्लाट करना है थोड़े बदलाव के साथ 


अब आपका चार्ट कुछ इस प्रकार दिखेगा 


मार्किट में वैसे तो बहुत सारे इंडिकेटर होते हैं और सभी अपनी - अपनी जगह सही काम करते हैं बस जो जिसमे पारंगत हो गया वो उसी का उपयोग करता है 

मुझे उम्मीद है कि आप इनसभी को अच्छे से समझ गए होंगे और अगर आपका कोई सवाल हो तो आप कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं उम्मीद करती हूँ कि आप और आपका इन्वेस्टमेंट हमेशा सुरक्षित रहे - धन्यवाद् 

You Also Love This Blog 

1. How To Invest In Stock Market In India? Beginner's Guide

2. What is RSI Technical indicator? - RSI क्या है? ( Relative Strength Index )

3. What Is Exponential Moving Average ( EMA )

4. MOVING AVERAGE DEFINITION & CALCULATION

5. How To Become Rich By Investing In Stocks ? Here Is The Tips


Nutan Srivastava

Stock Market, Intraday, Fundamental, Candle Stick, Support-Resistance, IPO, Chart, Earn Money online, LIC IPO, Health & Life Insurance,World Market,

If you have any doubt pls. let me know or leave a comment ... इस ब्लॉग की सभी जानकारी Education purpose के लिए है, किसी निवेश से पहले अपने फाइनेंसियल सलाहकार से जरुर सलाह ले

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने