Know About The Mutual Fund | SIP सिस्टेमेटिक इनवेस्टमेंट | Mutual Fund की पूरी A B C D, थोड़े-थोड़े निवेश से बनायें करोड़ों


करना चाहते हैं म्यूच्यूअल फंड में निवेश तो जाने इसके बारे में सब कुछ, Mutual Fund की पूरी A B C D | विशेषता | लाभ 



Investment Mutual funds | Share market | Stock market |  Know About The Mutual Fund | म्यूचुअल फंड के फायदे क्या है?  | SIP  सिस्टेमेटिक इनवेस्टमेंट | म्यूच्यूअल फंड में कितना रिटर्न मिलता है? | म्यूचुअल फंड में पैसा कब लगाएं? | म्यूचुअल फंड में रिटर्न कितना मिलता है? | म्यूचुअल फंड के फायदे क्या है? | म्यूचुअल फंड में पैसा कब लगाएं? | म्यूचुअल फंड कैसे काम करता है | म्यूचुअल फंड सही है या गलत | Invest In Mutual funds | म्यूचुअल फंड का अर्थ क्या है? म्यूचुअल फंड एक सुरक्षित और बेहतर विकल्प है | Mutual Fund के बारे में सम्पूर्ण जानकारी


लोग अक्सर कम रिस्क और अच्छे रिटर्न के लिए सर्च किया करते हैं और नये - नये निवेश के मार्ग तलाशा करते हैं और इसी लिए लोगों का रुझान स्टॉक मार्किट और Mutual Fund में निवेश की ओर हुआ है। और यहाँ आपके पास दो रास्ते हैं एक स्टॉक मार्किट और दूसरा म्यूच्यूअल फंड में निवेश

अगर आप अधिक रिस्क ले सकते हैं तो इक्विटी फंड, म्यूचुअल फंड में सबसे ज्यादा पॉपुलर फंड है। इक्विटी फंड में ज्यादा रिस्क तो है लेकिन ज्यादा रिटर्न भी इसी लिए लोग ज्यादा रिटर्न के लिये इसको पसंद करते हैं। 

यह भी पढ़ें : Top 7 beginner investing mistakes

अगर आप कम रिस्क लेकर अच्छा मुनाफा कमाना चाहते हैं तो हम आपको यहां बता देना चाहते हैं कि म्यूचुअल फंड में निवेश करके आप अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं और आज हम आपको यहां बताएँगे Mutual Fund की पूरी A B C D, म्यूचुअल फंड का अर्थ, विशेषता और लाभ

Mutual Funds में निवेश करके आप कम रिस्क के साथ अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं इस समय मार्किट में निवेश के बहुत सारे विकल्प हैं जिनमे से म्यूचुअल फंड्स ही एक ऐसा विकल्प है जो आपको कम रिस्क में अच्छा रिटर्न दे सकता है।  इसी कारण आज बहुत बड़ी तादाद में लोगों का रुझान म्यूचुअल फंड की तरफ हो चला है।

खासकर SIP ( सिस्टेमेटिक इनवेस्टमेंट ) प्लान के द्वारा, इसमें निवेश करने वालों की तादाद लगातार बढ़ रही है और लोगों का इसके अच्छे रिटर्न को देखते हुए इसके प्रति विश्वास भी बढ़ा है। जिनको बाजार के विषय में कम जानकारी है उनके लिए म्यूचुअल फंड एक सुरक्षित और बेहतर  विकल्प है।

म्यूचुअल फंड के द्वारा शेयर बाजारे में ही नहीं बल्कि डेट, कमोडिटी और  गोल्ड में भी अपना पैसा निवेश किया जा सकता है। म्यूचुअल फंड में निवेश के कई विकल्प बाजार में उपलब्ध हैं। इसलिए आपको म्यूच्यूअल फंड को समझना चाहिए किन्तु इसमें निवेश से पहले किसी एक्सपर्ट की मदद अवश्य लें।

Read This : Best Share Market Books In India

मेरे इस लेख के माध्यम से आप म्यूचुअल फंड के फायदे क्या है? तथा  म्यूचुअल फंड की सम्पूर्ण A B C D समझ जायेंगे आज हम आपको  Mutual Fund के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं तो बने रहें मेरी इस पोस्ट के साथ

म्यूचुअल फंड (Mutual fund) क्या है 

म्यूचुअल फंड को हिंदी में "पारस्परिक निधि" कहते हैं इसका अर्थ सामूहिक से है क्यूंकि यह एक प्रकार का "सामुहिक निवेश" होता है। इसमें  निवेशकों का एक समूह मिल कर स्टॉक, शॉर्ट टर्म के लिए निवेश करते है। Mutual Fund मे एक फंड मैनेजर बनाया जाता है जो फंड के निवेश का मैनेजमेंट, लेखा-जोखा और नफा-नुकसान का हिसाब रखता है और इन्ही  नफा-नुकसान को निवेशकों के मध्य बांट दिया जाता है। 

Mutual Fund कंपनी के द्वारा सभी निवेशकों के निवेश की राशि इकट्ठा किया जाता है और इसके बदले कंपनी के द्वारा निवेशकों से कुछ सर्विस चार्ज लिया जाता है और उसके बाद इकट्ठा हुई राशि को बाजार में निवेश किया जाता है।

Read This : How To Become A Successful Traders In Share Market

म्यूचुअल फंड में निवेश का फायदा

म्यूचुअल फंड में निवेश का फायदा यह होता है कि आपको यह सोचने की आवश्यकता नहीं है और न ही ज्यादा दिमाग लगाने की कि शेयर को कब खरीदना है और कब बेचना है आपका यह काम फंड मैनेजर के द्वारा किया जाता है।

Mutual Fund इसलिए भी अधिक लोगों को पसंद है क्यूंकि इसमें निवेश के लिए हर महीना सिर्फ 500 रुपये से भी किया जाता है इसलिए इसमें  अमीर व गरीब दोनों निवेश कर सकते हैं इसमें हर महीना निवेश के लिए सिस्टेमेटिक इनवेस्टमेंट प्लान ( SIP ) लेना होता है और उसके लिए हर महीना एक निश्चित तय धनराशि क़िस्त की तरह देनी होती है जो आपके  बैंक खाते से सीधे ECS की तरह आपके FUND में ट्रांसफर होती रहती है।  

UTI AMC भारत की सबसे पुरानी म्यूचुअल फंड कंपनी है म्यूचुअल फंड की इक्विटी योजना में इंडेक्स फंड, लार्ज-कैप फंड, मिड-कैप स्कीम , डायवर्सिफाइड फंड, और टैक्स सेविंग जैसे कई विकल्प होते हैं जिसको  आप अपने हिसाब से चुन सकते हैं। 

किन्तु म्यूचुअल फंड के निवेश में ध्यान रखने योग्य बात ये है कि Stock Market की ही तरह म्यूचुअल फंड में भी पैसा लंबे समय के निवेश से ही बनता है दो या तीन साल में आपको उतना रिटर्न नहीं मिलता जितना 5 से 7 साल में बनता है। इसलिए हमेशा लम्बे समय के लिए ही निवेश की सोंचे।

म्यूचुअल फंड कितने प्रकार का होता है?

म्यूचुअल फंड मुख्यतः दो प्रकार का होता है एक एसेट्स क्लास और दूसरा  संरचना आज हम इन दोनों के विषय में जानेंगे। 

How To Become Rich By Investing In Stocks ? Here Is The Tips

एसेट्स क्लास के आधार पर म्यूचुअल फंड

किसी एक या अधिक प्रकार की सम्पत्तियों में निवेश को एसेट्स क्लास कहा जाता है यानी कि जो फंड आपने म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट किया हुआ है उसे किसी एक या एक से ज्यादा जगह पर निवेश किया जाता है। एसेट क्लास में भी हम इसको कई भागों में विभाजित कर सकते हैं :-

1. गिल्ट फंड (Gilt Fund)

गिल्ट फंड वे फंड हैं जिसमे पैसा सिर्फ गवर्नमेंट सिक्योरिटीज में ही निवेश किया जाता है सरकारी होने के कारण इस प्रकार के फंड में रिस्क न के बराबर होता है इसलिए ये काफी पॉपुलर भी है।

2. लिक्विड फंड्स (Liquid Funds)

लिक्विड फंड में आप अपने फण्ड को कभी Withdraw करवा सकते हैं और पैसा आपके एकाउंट में 24 घण्टे के अंदर क्रेडिट हो जाता है वैसे लिक्विड फंड में डेट फंड की अपेक्षा कम रिटर्न मिलता है किन्तु ये अधिक सुरक्षित होता है। 

लिक्विड फंड में इन्वेस्टमेंट के लिए समय की कोई बाध्यता नहीं है इसमें  आप कम से कम 3 दिन के लिए भी इन्वेस्ट कर सकते हो। लिक्विड फंड बैंक अकाउंट जमा या एफडी का एक सबसे अच्छा विकल्प है। 

3. इक्विटी फंड (Equity Funds)

म्यूचुअल फंड में अगर कोई सबसे पॉपुलर फंड है तो वो है इक्विटी फंड,  अगर आप थोड़ा भी रिस्क ले सकते हैं और ज्यादा रिटर्न के बारे में सोचते हैं तो आपको इक्विटी फंड में इन्वेस्ट करना चाहिए। इक्विटी म्यूचुअल फंड में  पूरे फंड को फंड मैनेजर के द्वारा स्टॉक मार्केट में निवेश किया जाता है। 

इक्विटी म्यूचुअल फंड निम्न फंड में बांटा गया है

1. लार्ज कैप,

2. मिड कैप,

3. मल्टी कैप,

4. स्मॉल कैप,

Which Indicator is best for trading

a. लार्ज कैप फंड्स (Large Cap Funds)

बड़े मार्केट कैप वाली कम्पनियों को लार्ज कैप कहा जाता है लार्ज कैप फंड वे म्यूचुअल फंड्स होते हैं जो अपना पैसा इन कंपनियों में लगाते हैं लार्ज कैप कम्पनियां पहले से ही अपनी ग्रोथ कर चुकी होती है और इनके प्रॉफिट के चांस ज्यादा होता है यध्यपि लार्ज कैप कम्पनी रिटर्न कुछ कम देती हैं किन्तु इसमें इन्वेस्ट करना सुरक्षित माना जाता है। इसलिए रिस्क कम तो रिटर्न कम और रिस्क ज्यादा तो रिटर्न भी ज्यादा।  

b. मिड कैप फंड्स (Mid Cap Funds)

मध्यम श्रेणी की वे कम्पनियां जो ग्रोथ की ओर अग्रसर होती हैं जिनका मार्किट कैप अच्छा होता है किन्तु लार्ज कैप कंपनियों से कम होता है जिन्होंने अपने व्यापार को स्थापित तो कर लिया है और तरक्की भी हो रही है उन्हें मिड कैप फंड्स में रखा जाता है इनके लार्ज कैप में बदलने के भी चांस ज्यादा होते हैं इनमे भी रिस्क कम होता है और ये लार्ज कैप से ज्यादा रिटर्न दे सकने में सक्षम होती हैं।

c. मल्टी कैप फंड्स (Multi Cap Funds)

म्यूचुअल फंड में निवेश के लिए यह सबसे अधिक पॉपुलर फंड है इस फंड में लार्ज कैप, मिड कैप और स्मॉल कैप कंपनियों के समागम ( मिश्रण ) के द्वारा निवेश किया जाता है जिससे रिस्क कम हो जाता है और रिटर्न बढ़ जाता है ( कुछ फंड को लार्ज कैप में कुछ फंड को मिड कैप में और कुछ को स्मॉल कैप में निवेशित है )

d. स्मॉल कैप फंड्स (Small Cap Funds)

स्मॉल कैपिटल फंड एक ऐसा फंड होता है जो आपको आपके अनुमान से बहुत अधिक रिटर्न दे सकता है किन्तु काफी रिस्की भी होता है दरअसल स्माल कैप  कम्पनियां आती हैं जिन्होंने अभी हाल ही में अपना व्यापार शुरू किया है। 

What is Multibagger stocks & how to find it

4. डेट फंड (Debts Funds)

डेट फंड उन फंडों को कहा जाता जो एक निश्चित रिटर्न देते हैं इनमे डेट फंड कमर्शियल पेपर, कॉर्पोरेट बांड्स, ट्रेजरी बिल, आदि आते हैं इनके अलावा फ्लैक्सी कैप फंड्स , इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम, हाईब्रिड फंड्स आदि भी होते हैं।  


यहां मैंने आपको अपनी जानकारी के मुताबिक म्यूच्यूअल फंड के विषय में जानकारी दी है अगर आप भी सुरक्षित और अच्छा रिटर्न चाहते हैं तो आपको म्यूच्यूअल फंड की ओर रुख करना चाहिए। अगर आपका कोई सवाल हो और आपको पोस्ट पसंद आये तो इसको शेयर अवश्य करें। 


FAQ


Qs. म्यूचुअल फंड (Mutual fund) क्या है? 

Ans. म्यूचुअल फंड को हिंदी में "पारस्परिक निधि" कहते हैं इसका अर्थ सामूहिक से है क्यूंकि यह एक प्रकार का "सामुहिक निवेश" होता है। इसमें   निवेशकों का एक समूह मिल कर शॉर्ट टर्म के लिए निवेश करते है। Mutual Fund मे एक फंड मैनेजर बनाया जाता है जो फंड के निवेश का मैनेजमेंट, लेखा-जोखा और नफा-नुकसान का हिसाब रखता है और इन्ही  नफा-नुकसान को निवेशकों के मध्य बांट दिया जाता है। 


Qs. भारत की सबसे पुरानी म्यूचुअल फंड कंपनी कौन सी है?

Ans. UTI AMC भारत की सबसे पुरानी म्यूचुअल फंड कंपनी है  


Qs. इक्विटी म्यूचुअल फंड के कितने भाग होते हैं?

Ans. इक्विटी म्यूचुअल फंड निम्न फंड में बांटा गया है

1. लार्ज कैप,

2. मिड कैप,

3. मल्टी कैप,

4. स्मॉल कैप,


Qs. लिक्विड फंड्स में पैसा Withdraw करने में कितना समय लगता है?

Ans. लिक्विड फंड में आप अपने फण्ड को कभी Withdraw करवा सकते हैं और पैसा आपके एकाउंट में 24 घण्टे के अंदर क्रेडिट हो जाता है 


आपको ये भी पढ़ना चाहिए :-

Technical Analysis In Hindi Part - 1

Technical Analysis In Hindi Part - 2

Technical Analysis In Hindi Part - 3

Which Indicator is best for trading

Candlestick Pattern In Hindi


Investment Mutual funds | Share market | Stock market |  Know About The Mutual Fund | म्यूचुअल फंड के फायदे क्या है? | म्यूच्यूअल फंड में कितना रिटर्न मिलता है? | म्यूचुअल फंड में पैसा कब लगाएं? | म्यूचुअल फंड में रिटर्न कितना मिलता है? | म्यूचुअल फंड के फायदे क्या है? | म्यूचुअल फंड कैसे खरीदते हैं? | म्यूचुअल फंड में पैसे इन्वेस्ट कैसे करें? | म्यूचुअल फंड में पैसा कब लगाएं? | म्यूचुअल फंड कैसे काम करता है | म्यूचुअल फंड सही है या गलत | म्यूचुअल फंड में ऑनलाइन निवेश कैसे करें | म्यूचुअल फंड का अर्थ क्या है? |


Nutan Srivastava

Stock Market, Intraday, Fundamental, Candle Stick, Support-Resistance, IPO, Chart, Earn Money online, LIC IPO, Health & Life Insurance,World Market,

1 टिप्पणियाँ

If you have any doubt pls. let me know or leave a comment ... इस ब्लॉग की सभी जानकारी Education purpose के लिए है, किसी निवेश से पहले अपने फाइनेंसियल सलाहकार से जरुर सलाह ले

एक टिप्पणी भेजें
और नया पुराने