Top 7 beginner investing mistakes | Investors द्वारा की जाने वाली कुछ सामान्य गलतियां

By: Nutan Srivastava


Investors द्वारा की जाने वाली कुछ सामान्य गलतियां | Stock Market | New Investor's Mistake | शेयर मार्किट कैसे सीखें? | Why do beginners fail in the stock market? | What are common investment mistakes? | What should a beginner do in the stock market? | How do beginners invest? | How do I start trading for beginners? | Mistakes to avoid when trading stocks | Common mistakes in stock trading | Top 7 beginner investing mistakes


आज हम आपको बताएँगे उन गलतियों के बारे में जो सामान्यतयः नए निवेशकों द्वारा की जाती है अगर आप इन गलतियों पर अंकुश लगा सकते हैं तो एक सफल निवेशक बनने से आपको कोई नहीं रोक सकता हम आपको यहां बताने वाले हैं उन Top 7 beginner investing mistakes के बारे में जो नये निवेशक के द्वारा की जाती हैं और उन सात तरीकों के बारे में भी बताएँगे जिनको अपना कर आप स्टॉक मार्किट से अच्छा पैसा कमा सकते हैं। 

तो बने रहें मेरे साथ और इस पोस्ट को अंत तक पूरा पढ़ें अगर आप वास्तव में स्टॉक मार्किट से पैसा कामना चाहते हैं और स्टॉक मार्किट में नये हैं तो ये आपके बहुत काम आने वाली है तो सबसे पहले हम शुरू करते हैं उन गलतियों Common mistakes in stock trading ) के बारे में जानने की जो नये इन्वेस्टर द्वारा की जाती है।  

Read This : How To Select A Stock to Invest In Share Market For Consistent Return


नये Investors के द्वारा की जाने वाली कुछ सामान्य गलतियां

प्रायः शेयर मार्किट में हर दिन कई नए निवेशकों का प्रवेश होता है और उन्होंने शेयर मार्किट के बारे में अच्छा - अच्छा ही सुन रखा होता है इसीलिए वो शेयर मार्किट में प्रवेश करता है किन्तु ये इतना सरल भी नहीं होता है इसके लिए आपको कुछ नियम बनाने होते हैं अपने ऊपर संयम रखना होता है आपको काफी रिसर्च करना होता है। 

यहां हम कुछ ऐसी ही गलतियों के बारे में जानेंगे जो अधिकतर नये निवेशक करते हैं और ये पोस्ट मैंने इसी उद्देश्य से लिखी भी है ताकि नए निवेशकों को पता चल सके कि क्या हैं वो चीजें जो उन्हें ध्यान रखनी चाहिए।

अक्सर होता ये है कि कोई स्टॉक जो लगातार गिर रहा होता है या 52 वीक Low पर होता है तो नया इन्वेस्टर यह सोच कर उस स्टॉक में निवेश कर देता है कि ये अपने Low पर है और 25% - 30% की गिरावट पर है तो अब इसकी गिरावट थम सकती है और ये काफी सस्ते भाव पर मिल रहा है।

Read This : Best Share Market Books In India

उसका ये सोचना कुछ हद तक सही भी होता है किन्तु ये तरीका तब काम आ सकता है जब स्टॉक अच्छी क्वालिटी का हो और उसे बढ़ने के लिए कुछ समय तक के लिए होल्ड किया जाये किन्तु नये इन्वेस्टर को तो तुरंत रिटर्न चाहिए होता है और वो उस स्टॉक को कुछ दिन तक होल्ड करता है और जब उसमे और अधिक गिरावट हो जाती है तो वो उसे लॉस पर बेच देता है। 

Investors द्वारा की जाने वाली कुछ सामान्य गलतियां

हर नया या पुराना इन्वेस्टर सस्ते भाव में ही स्टॉक को लेना चाहता है लेकिन हमें केवल स्टॉक की कीमत के आधार पर ही स्टॉक का चुनाव नहीं करना चाहिए बाकी और भी बहुत सारे फैक्टर्स को ध्यान में रखना चाहिए जैसे - स्टॉक क्यों गिर रहा है, उसके पीछे कोई बुरी खबर, इंडीकेटर्स, वॉल्यूम, कैंडल स्टिक, ग्लोबल मार्किट। 


सुझाव :- गिरावट में स्टॉक लेना अच्छा विकल्प है किन्तु अच्छे  फंडामेंटल वाला और अगर आपको 4 लाख इन्वेस्ट करना है तो 2 + 1 + 1 के रेश्यो के हिसाब से इन्वेस्ट करें उदाहरण अगर आपको हिंडालको लेना है तो 2 लाख इन्वेस्ट करें उसकी और गिरावट पर 1 लाख और लगाएं और गिरावट पर 1 लाख और लगाएं और एवरेज करलें और होल्ड करके रखें किन्तु गिरवाट की वजह भी जाने। 


2. सही एडवाइजर का चयन न करना

अधिकतर नया निवेशक किसी के बताने पर ही शेयर मार्किट में प्रवेश  करता है तो वो व्यक्ति उसी को अपना एडवाइजर मान लेता है और उसके सुझाव के अनुरूप ही मार्किट में निवेश करता है। ये एडवाइजर उसका दोस्त या फिर रिश्तेदार कोई भी हो सकता है।

Read This : How To Become A Successful Traders In Share Market

हम मान भी लेते हैं कि उसका ज्ञान शेयर मार्किट में बहुत अच्छा है और वो काफी समय से स्टॉक मार्किट में ट्रेडिंग कर रहा है किन्तु ये जरुरी भी नहीं कि जो उसके पास ट्रेडिंग का तरीका है या संयम है वो आपके पास भी हो। इसलिए हम हमेशा ये सलाह देते हैं कि स्टॉक मार्किट का ज्ञान आप चाहे जहां से भी लें किन्तु ट्रेडिंग में संयम दिखाएँ और शेयर मार्किट में दिए गये आपके समय के द्वारा ही आप एक कुशल इन्वेस्टर बन सकते हैं। 

3. Trend के अनुसार इन्वेस्ट करना

अक्सर नये इन्वेस्टर जैसा मैंने ऊपर बताया था गिरावट में स्टॉक को लेना पसंद करते हैं क्यूंकि वो स्टॉक उन्हें सस्ता लग रहा होता है जबकि वो गिरावट की वजह नहीं देखते कि ग्लोबल मार्किट का उस स्टॉक पर क्यों असर हो रहा है, कही उसके एक्सपोर्ट में कोई प्रॉब्लम है, क्या सरकार ने उस सेक्टर के लिये कुछ ख़राब घोषणा की है। 

Top 7 beginner investing mistakes

किन्तु हमेशा गिरावट की कोई वजह नहीं होती कभी - कभी ये लम्बे समय से स्टॉक के प्रॉफिट के बाद की प्रॉफिट बुकिंग भी हो सकती है तो ऐसे में स्टॉक में कुछ दिन तक गिरावट रह सकती है जैसा मैंने ऊपर आपको चित्र में दर्शाया है। इसी लिए अगर लम्बे समय के लिए निवेशित रहना है तो आप गिरावट में शेयर ले सकते हैं किन्तु शार्ट टर्म के लिए आपको ट्रेंड के अनुसार चलना होता है। 

How To Become Rich By Investing In Stocks ? Here Is The Tips

4. केवल बड़े नाम को देख कर इन्वेस्ट कर देना

किसी कंपनी का बड़ा नाम होना उसका फंडामेंटल नहीं दर्शाता उदाहरण के लिए आपने PayTM के आईपीओ के बारे में सुना होगा परफॉरमेंस को समझने के लिए फाइनेंसियल और कम्पनी के फंडामेंटल को जानना अति आवश्यक है कम्पनी घाटे पर चल रही या प्रॉफिट में जानकार ही किसी स्टॉक में या आईपीओ में निवेश करना चाहिए।



5. पोर्टफोलियो में विविधता लाना 

अगर आपके पोर्टफोलियो में भी अलग-अलग सेक्टर्स के अलग-अलग कंपनियों के स्टॉक्स है तो आप एक अच्छे निवेशक हैं और आपके द्वारा बनाया गया पोर्टफोलियो बेहद अच्छा है उसका कारण ये है कि अधिकतर देखा यही गया है कि एक सेक्टर के सभी स्टॉक की चाल सामान्यतः एक जैसी ही होती है।

इसलिए अगर गिरावट होती है तो अधिकतर सारे शेयर में गिरावट होती है और अगर बढ़त होती है तो अधिकतर सारे शेयर में बढ़त होती है उसका कारण ये होता है कि जब भी कोई अच्छी या बुरी खबर किसी सेक्टर के लिए आती है तो उसका असर उस सेक्टर के लगभग सभी शेयर पर समान होता है।

इसलिए अगर आप निवेश की सोच रहे हैं तो आपको भिन्न-भिन्न सेक्टर के अलग-अलग शेयर का चुनाव करना चाहिये जिससे आप सभी शेयर में होने वाले नुक्सान से बच सकें

What is Multibagger stocks & how to find it

6. बहुत जल्दी प्रॉफिट बुक कर लेना

जहां एक ओर ट्रेडर्स मार्किट में शार्ट टर्म के लिए पैसा लगते हैं वहीँ इन्वेस्टर लॉन्ग टर्म के लिए अपना पैसा स्टॉक मार्किट में निवेश करते हैं। इस प्रकार इन दोनों में एक बड़ा अंतर यही होता है कि निवेशक के नुक्सान का अनुमान न के बराबर होता है और वो स्टॉक में तब तक निवेशित रहता है जब तक वो स्टॉक निवेशक को अच्छा रिटर्न नहीं दे देता।

जबकि ट्रेडर्स के अंदर सयम की कमी होती है और वो निवेश करने के बाद हल्का प्रॉफिट होते ही इस डर से कि कहीं ये स्टॉक वापिस नीचे न आ जाये उसमे प्रॉफिट बुक करलेता है और नुक्सान के दौरान लम्बे समय तक ये सोच कर इंतज़ार करता रहता है कि शायद अब इसकी गिरावट थम जाये किन्तु इसका उल्टा हो जाता है और स्टॉक में लगातार गिरावट आती रहती है और आखिरी में वो इसमें लॉस बुक कर लेता है। 

सुझाव : ऐसे में मेरा सुझाव यही रहेगा कि क्वालिटी स्टॉक में निवेश किया जाये और लम्बे समय के लिए अगर गिरावट हो तो और खरीदकर उसे एवरेज कर लिया जाये लम्बे समय के लिए किया गया इन्वेस्ट ही आपको अच्छा रिटर्न दे सकता है और मार्किट में सिर्फ इन्वेस्टर ही अच्छा पैसा कमा पाते है। 


7. मार्किट को देखकर तुरंत निर्णय लेने की क्षमता को बढ़ाना 

हालाँकि जब भी मार्किट में गिरावट आती है तो ट्रेडर्स से ज्यादा इन्वेस्टर के लिये ये चिंता की बात होती है ऐसे में इन्वेस्टर और ट्रेडर्स दोनों को मार्किट के साथ चलने का अभ्यास करना चाहिए।

उदाहरण के लिए किसी इन्वेस्टर ने 10 लाख के शेयर ख़रीदे हुए हैं और मार्किट में गिरावट आ गयी और आपको लगता है कि ये गिरावट कुछ दिन बनी रह सकती है और आप उस स्टॉक को बेचना नहीं चाहते तो ऐसे में आपको पुट खरीद कर चलना चाहिए

और यही ट्रेडर्स के लिए उसे शार्ट सेल्लिंग या पुट खरीद कर चलना चाहिए किन्तु इन सबके लिए आपको कैंडल स्टिक की जानकारी होना आवश्यक है। 

सार 

तो हमने आपको अपनी इस पोस्ट में उन गलतियों का जिक्र किया जो हमेशा नये इन्वेस्टर या ट्रेडर्स के द्वारा किये जाते हैं और Investors द्वारा की जाने वाली कुछ सामान्य गलतियां सबसे होती हैं किन्तु उनको दिमाग में रख कर उससे सीख लेने की जरुरत है और इसके लिए आपको मेरी कुछ बेहद जरुरी पोस्ट को जरूर पड़ना चाहिए जिनका लिंक मैने नीचे दिया हुआ है। अगर आपको ये पोस्ट पसंद आये तो इसको और लोगों के साथ भी शेयर जरूर करें। 


Technical Analysis In Hindi Part - 1

Technical Analysis In Hindi Part - 2

Technical Analysis In Hindi Part - 3

Which Indicator is best for trading

Candlestick Pattern In Hindi


FAQ 


Qs. स्टॉक मार्किट में नये निवेशक या ट्रेडर्स द्वारा क्या गलती की जाती है?

Ans. स्टॉक की अत्यधिक गिरावट को देखकर ख़रीदारी करना, सही  एडवाइजर का चयन न करना, Trend के अनुसार इन्वेस्ट करना, केवल बड़े नाम को देख कर इन्वेस्ट कर देना, 5. पोर्टफोलियो में विविधता लाना, बहुत जल्दी प्रॉफिट बुक कर लेना, मार्किट को देखकर तुरंत निर्णय लेने की क्षमता को बढ़ाना 


Qs. स्टॉक मार्किट के लिए कैंडल स्टिक को कहाँ से सीखा जा सकता है?

Ans. कैंडल स्टिक को सीखने और अच्छे से समझने के लिए आप दिए गये लिंक पर जाके सीख सकते हैं Candlestick Pattern In Hindi


Qs. अगर ट्रेंड के साथ चलना अच्छा होता है तो क्या गिरावट के समय स्टॉक को खरीदना अच्छा नहीं है?

Ans. ऐसा नहीं है - गिरावट में स्टॉक लेना अच्छा विकल्प है किन्तु अच्छे  फंडामेंटल वाला स्टॉक और अगर आपको 4 लाख इन्वेस्ट करना है तो 2 + 1 + 1 के रेश्यो के हिसाब से इन्वेस्ट करें उदाहरण अगर आपको हिंडालको लेना है तो 2 लाख इन्वेस्ट करें उसकी और गिरावट पर 1 लाख और लगाएं और गिरावट पर 1 लाख और लगाएं और एवरेज करलें और होल्ड करके रखें किन्तु गिरवाट की वजह भी जानना जरुरी है। 



Investors द्वारा की जाने वाली कुछ सामान्य गलतियां | Stock Market | New Investor's Mistake | शेयर मार्किट कैसे सीखें? | Why do beginners fail in the stock market? | What are common investment mistakes? | What should a beginner do in the stock market? | How do beginners invest? | How do I start trading for beginners? | Mistakes to avoid when trading stocks | Common mistakes in stock trading | Top 7 beginner investing mistakes


Nutan Srivastava

Stock Market, Intraday, Fundamental, Candle Stick, Support-Resistance, IPO, Chart, Earn Money online, LIC IPO, Health & Life Insurance,World Market,

If you have any doubt pls. let me know or leave a comment ... इस ब्लॉग की सभी जानकारी Education purpose के लिए है, किसी निवेश से पहले अपने फाइनेंसियल सलाहकार से जरुर सलाह ले

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने